सिर पर बाल और गंजापन बिना अतिरिक्त खर्च के बढ़ेगा।

0
254

दोस्तों अभी कुछ समय पहले बॉलीवुड में एक फिल्म “हाउसफुल-2” आई थी। इस फिल्म में “बाला” का किरदार बाल झड़ने से पीड़ित युवक जवानी में ही गंजा हो जाता है,

जिसका दुख पूरी फिल्म में दिखाया गया है। हमारे समाज में यह सच है कि अगर किसी का व्यक्तित्व आकर्षक है तो वह है काले घने बाल। लेकिन, जब यह बालों का झड़ना बढ़ने लगता है और व्यक्ति ताबीज की ओर बढ़ जाता है।

इसके साथ ही उसका आत्मविश्वास भी कम हो जाता है और सामान्य तौर पर नियमित रूप से 100 बाल झड़ना तनाव की बात नहीं है, लेकिन अगर वह नियमित रूप से 100 से अधिक बाल झड़ने लगे तो समझ लें कि यह गंजेपन का संकेत है और यह एक तनावपूर्ण बात है

इसे हल्के में न लें। अध्ययनों से पता चला है कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों में तावीज़ अधिक आम है। इसके लिए अन्य कारक जिम्मेदार हो सकते हैं, जैसे खराब जीवनशैली, जलवायु परिवर्तन, शराब का सेवन, कॉफी, चाय, धूम्रपान, मसालेदार भोजन और जंक फूड।

अगर शरीर में पित्त की मात्रा बढ़ जाए तो इसका सीधा असर बालों पर पड़ता है। इतना ही नहीं आनुवंशिकता और हार्मोन से जुड़ी तमाम समस्याएं भी पुरुषों में ताबीज की ओर ले जाती हैं। अगर आप भी धीरे-धीरे तलीपन का शिकार हो रहे हैं तो आपको इन खास बातों पर

जरूर ध्यान देना चाहिए और इन पर अमल भी करना चाहिए। इस लेख में हम आपको कुछ टिप्स के बारे में बताएंगे। इन टिप्स की मदद से आप बालों के झड़ने की गति को कम कर सकते हैं और इसकी मदद से नए बाल भी उगने लगते हैं।

रेंड़ी का तेल:

अरंडी का तेल, जैतून का तेल, नारियल का तेल, बादाम का तेल लें, इसमें जूट के बीज डालें और सभी सामग्री को अच्छी तरह मिला लें। इन टिप्स को आजमाने के बाद बालों का झड़ना कम होगा। अपने बालों को हमेशा माइल्ड शैम्पू से धोएं, क्योंकि हार्ड शैंपू सीधे बालों के रोम को नुकसान पहुंचाते हैं। बाल गीले होने पर नारियल का तेल लगाएं। ऐसा करने से बाल और स्कैल्प मुलायम रहेंगे और रूखेपन के कारण बालों का झड़ना भी कम होगा।

त्रिफला चूर्ण:

नियमित रूप से खाली पेट एक चौथाई चम्मच त्रिफला चूर्ण को शहद के साथ मिलाकर सेवन करने से बालों के झड़ने की समस्या से छुटकारा मिलता है। इसके लिए जरूरी है कि आप इस प्रक्रिया को लगातार तीन महीने तक करें और नियमित रूप से बाल कटवाएं।

प्याज का रस:

प्याज का इस्तेमाल सिर्फ खाने के लिए ही नहीं बल्कि बालों को सही पोषण देने का भी काम करता है। खासतौर पर प्याज का रस बालों के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। प्याज को मिक्सी में पीस कर उसका रस निकाल कर रुपये की मदद से बालों की जड़ों में लगाएं फिर 1/2 घंटे बाद बालों को गुनगुने पानी से धो लें. हो सके तो माइल्ड शैम्पू का ही इस्तेमाल करें।

नारियल का दूध

जिस तरह बालों के विकास के लिए नारियल का तेल सबसे अच्छा माना जाता है, उसी तरह नारियल का दूध बालों और स्कैल्प के लिए अच्छा होता है।

नारियल के दूध में 2 चम्मच आंवला का तेल मिलाकर 1 चम्मच नींबू का रस मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं। बालों में लगाने के बाद 1/2 घंटे के लिए छोड़ दें। फिर बालों को माइल्ड शैंपू से धो लें। यह बालों के रोम को मुलायम बनाता है और बालों के झड़ने की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

अमरूद के पत्ते:

नए बाल उगाने के लिए आंवले की पत्तियां काफी मददगार होती हैं। आंवले के कुछ पत्ते लेकर पानी में उबाल लें, फिर जब पानी काला हो जाए तो इसे उतारकर ठंडा कर लें। अब इसे जहां बाल झड़ गए हैं वहां लगाएं। इसे 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें और अपने बालों को धो लें। नए बाल उगाने के लिए यह प्रक्रिया बहुत मददगार होती है।

भृंगराज तेल:

बाजार में कई तरह के आयुर्वेदिक तेल उपलब्ध हैं, लेकिन माना जाता है कि भृंगराज के तेल की मालिश करने से नए बालों की ग्रोथ में मदद मिलती है। दरअसल, भृंगराज एक ऐसी जड़ी-बूटी है जिसमें बाल उगाने की ताकत होती है, अगर इस तेल की नियमित रूप से मालिश की जाए तो सिर पर बाल वापस उग सकते हैं।

नीम का तेल:

नीम का तेल बालों के झड़ने की समस्या को खत्म करने का काम करता है, लेकिन इसे कभी भी गलती से स्कैल्प पर न लगाएं। नीम के तेल की चार बूंद नाक और कान पर नियमित रूप से रात में लगाने से बाल खुल जाते हैं। नीम का तेल लगाने से ये फ्लैप खुल जाते हैं और बालों का झड़ना बंद हो जाता है।

मेथी बीज:

मेथी के बीज बालों के विकास या हार्मोनल विकास के लिए उपयोगी होते हैं। मेथी के दानों को पीसकर बालों में लगाएं। ये टिप्स बालों के विकास हार्मोन को उत्तेजित करते हैं और बालों को लंबा बनाते हैं। वहीं दूसरी तरफ मेथी का किसी भी तरह से नियमित इस्तेमाल बालों की ग्रोथ को बढ़ाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here